Yahoo Chief Executive Scott Thompson plans to bring the Web portal to its former glory by doing away with everything that does not contribute to its core business of profit-driving ads and e-commerce. On Tuesday, Thompson, who left eBay’s division of PayPal to become CEO and president in January, held his first earnings call with Wall Street analysts after the Sunnyvale, Calif.-based company reported fairly positive first quarter results. More important than how the company did was what Thompson planned to do to raise profits, reverse a sales slump and bring back users who have left for Google and Facebook.

The problem, as Thompson sees it, was in Yahoo’s size.
Asked what he planned to do different in the restructuring, Thompson gave a vague answer of making better use of data, traffic, advertisers and “the next-generation experiences that we can build.”
“Yahoo has been doing way too much for too long and was only doing a few things really well,” he said. As a result, Yahoo is going to get smaller by consolidating its various platforms and jettisoning 50 properties that do not contribute to its core business of selling advertising and products on any device, including the PC, tablet or mobile phone.
To lure visitors to ads, Yahoo would focus on a smaller number of media categories: news, finance, sports, entertainment, email and a handful of others. The company would move engineers into its commerce businesses and dedicate some of its “best and brightest” workers to innovate in those areas.
On the backend, Thompson said the company would make the platform more “scalable, nimble and flexible” and therefore less expensive to run. For advertisers, the company was going to make better use of its user data to improve advertiser return on investment. “Really understanding our advertisers’ needs will position Yahoo to better monetize all our traffic globally,” he said.
One area Yahoo planned to find revenue was in licensing its intellectual property. The company recently showed how aggressive it would be by suing Facebook for alleged patent violations. “Other leading companies license our patented technology and Facebook must do the same or change the way it operates,” he said.
Thompson said he understood that Yahoo had to move fast and the changes he made during the first quarter, including cutting 2,000 jobs, or 14 percent of the company’s global workforce, was to reduce costs and streamline the operation. “Yahoo must be nimble, responsive and act with a real sense of urgency,” he said. “We have to think and to move like a growth company.”
Thompson introduced this month a restructuring plan that carved Yahoo into three areas, one focused on consumers, another on regional advertising and the third on the company’s technology assets. Online retail would be a big part of the consumer division and the company planned to continue focusing on such areas as travel and shopping. Asked what he planned to do different in the restructuring, Thompson gave a vague answer of making better use of data, traffic, advertisers and “the next-generation experiences that we can build.” Beyond, that Thompson said details would be announced during the current quarter.
Yahoo’s first-quarter results marked the company’s first sales increase in more than three years. Total revenue after traffic acquisition costs rose 1.2 percent to $1.22 billion. Revenue from search ads rose 7.6 percent, while the company’s core display-ad business fell 3.6 percent. By comparison, Google’s ad revenue rose 24 percent, while the online ad market as a whole increased 23 percent.
The job cuts and other cost-reducing measures helped Yahoo earnings. Net income rose 28 percent to $286.3 million from $223 million the same period a year ago.
For the current quarter, Yahoo said revenue would be from $1.03 billion to $1.14 billion

Sexy Girl

Posted: February 4, 2012 in Wallpaper
Tags: , ,

________ad88888888888888888888888a,
_______a88888″8888888888888888888888,
______,8888″__”P88888888888888888888b,
______d88_________`””P88888888888888888,
_____,8888b_______________””88888888888888,
_____d8P”’__,aa,______________””888888888b
_____888bbdd888888ba,__,I_________”88888888,
_____8888888888888888ba8″_________,88888888b
____,888888888888888888b,________,8888888888
____(88888888888888888888,______,88888888888,
____d888888888888888888888,____,8___”8888888b
____88888888888888888888888__.;8′”””__(888888
____8888888888888I”8888888P_,8″_,aaa,__888888
____888888888888I:8888888″_,8″__`b8d’__(88888
____(8888888888I’888888P’_,8)__________88888
_____88888888I”__8888P’__,8″)__________88888
_____8888888I’___888″___,8″_(._.)_______88888
_____(8888I”_____”88,__,8″_____________,8888P
______888I’_______”P8_,8″_____________,88888)
_____(88I’__________”,8″__M””””””M___,888888′
____,8I”____________,8(____”aaaa”___,8888888
___,8I’____________,888a___________,8888888)
__,8I’____________,888888,_______,888888888
_,8I’____________,8888888′`-===-’888888888′
,8I’____________,8888888″________88888888″
8I’____________,8″____88_________”888888P
8I____________,8′_____88__________`P888″
8I___________,8I______88____________”8ba,.
(8,_________,8P’______88______________88″”8bma,.
_8I________,8P’_______88,______________”8b___””P8ma,
_(8,______,8d”________`88,_______________”8b_____`”8a
__8I_____,8dP_________,8X8,________________”8b.____:8b
__(8____,8dP’__,I____,8XXX8,________________`88,____8)
___8,___8dP’__,I____,8XxxxX8,_____I,_________8X8,__,8
___8I___8P’__,I____,8XxxxxxX8,_____I,________`8X88,I8
___I8,__”___,I____,8XxxxxxxxX8b,____I,________8XXX88I,
___`8I______I’__,8XxxxxxxxxxxxXX8____I________8XXxxXX8,
____8I_____(8__,8XxxxxxxxxxxxxxxX8___I________8XxxxxxXX8,
___,8I_____I[_,8XxxxxxxxxxxxxxxxxX8__8________8XxxxxxxxX8,
___d8I,____I[_8XxxxxxxxxxxxxxxxxxX8b_8_______(8XxxxxxxxxX8,
___888I____`8,8XxxxxxxxxxxxxxxxxxxX8_8,_____,8XxxxxxxxxxxX8
___8888,____”88XxxxxxxxxxxxxxxxxxxX8)8I____.8XxxxxxxxxxxxX8
__,8888I_____88XxxxxxxxxxxxxxxxxxxX8_`8,__,8XxxxxxxxxxxxX8″
__d88888_____`8XXxxxxxxxxxxxxxxxxX8′__`8,,8XxxxxxxxxxxxX8″
__888888I_____`8XXxxxxxxxxxxxxxxX8′____”88XxxxxxxxxxxxX8″
__88888888bbaaaa88XXxxxxxxxxxxXX8)______)8XXxxxxxxxxXX8″
__8888888I,_“””””””8888888888888888aaaaa8888XxxxxXX8″
__(8888888I,______________________.__“`”””””88888P”
___88888888I,___________________,8I___8,_______I8″
____”””88888I,________________,8I’____”I8,____;8″
___________`8I,_____________,8I’_______`I8,___8)
____________`8I,___________,8I’__________I8__:8′
_____________`8I,_________,8I’___________I8__:8
______________`8I_______,8I’_____________`8__(8
_______________8I_____,8I’________________8__(8;
_______________8I____,8″__________________I___88,
______________.8I___,8′_______________________8″8,
______________(PI___’8_______________________,8,`8,
_____________.88′____________,@@___________.a8X8,`8,
_____________(88_____________@@@_________,a8XX888,`8,
____________(888_____________@@’_______,d8XX8″__”b_`8,
___________.8888,_____________________a8XXX8″____”a_`8,
__________.888X88___________________,d8XX8I”______9,_`8,
_________.88:8XX8,_________________a8XxX8I’_______`8__`8,
________.88′_8XxX8a_____________,ad8XxX8I’________,8___`8,
________d8′__8XxxxX8ba,______,ad8XxxX8I”__________8__,__`8,
_______(8I___8XxxxxxX888888888XxxxX8I”____________8__II__`8
_______8I’___”8XxxxxxxxxxxxxxxxxxX8I’____________(8__8)___8;
______(8I_____8XxxxxxxxxxxxxxxxxX8″______________(8__8)___8I
______8P’_____(8XxxxxxxxxxxxxxX8I’________________8,_(8___:8
_____(8′_______8XxxxxxxxxxxxxxX8′_________________`8,_8____8
_____8I________`8XxxxxxxxxxxxX8′___________________`8,8___;8
_____8′_________`8XxxxxxxxxxX8′_____________________`8I__,8′
_____8___________`8XxxxxxxxX8′_______________________8′_,8′
_____8____________`8XxxxxxX8′________________________8_,8′
_____8_____________`8XxxxX8′________________________d’_8′
_____8______________`8XxxX8_________________________8_8′
_____8________________”8X8′_________________________”8″
_____8,________________`88___________________________8
_____8I________________,8′__________________________d)
_____`8,_______________d8__________________________,8
______(b_______________8′_________________________,8′
_______8,_____________dP_________________________,8′
_______(b_____________8′________________________,8′
________8,___________d8________________________,8′
________(b___________8′_______________________,8′
_________8,_________a8_______________________,8′
_________(b_________8′______________________,8′
__________8,_______,8______________________,8′
__________(b_______8′_____________________,8′
___________8,_____,8_____________________,8′
___________(b_____8′____________________,8′
____________8,___d8____________________,8′
____________(b__,8′___________________,8′
_____________8,,I8___________________,8′
_____________I8I8′__________________,8′
_____________`I8I__________________,8′
______________I8′_________________,8′
______________”8_________________,8′
______________(8________________,8′
______________8I_______________,8′
______________(b,___8,________,8)
______________`8I___”88______,8i8,
_______________(b,__________,8″8″)
_______________`8I__,8______8)_8_8
________________8I__8I______”__8_8
________________(b__8I_________8_8
________________`8__(8,________b_8,
_________________8___8)________”b”8,
_________________8___8(_________”b”8
_________________8___”I__________”b8,
_________________8________________`8)
_________________8_________________I8
_________________8_________________(8
_________________8,_________________8,
_________________Ib_________________8)
_________________(8_________________I8
__________________8_________________I8
__________________8_________________I8
__________________8,________________I8
__________________Ib________________8I
__________________(8_______________(8′
___________________8_______________I8
___________________8,______________8I
___________________Ib_____________(8′
___________________(8_____________I8
___________________`8_____________8I
____________________8____________(8′
____________________8,___________I8
____________________Ib___________8I
____________________(8___________8′
_____________________8,_________(8
_____________________Ib_________I8
_____________________(8_________8I
______________________8,________8′
______________________(b_______(8
_______________________8,______I8
_______________________I8______I8
_______________________(8______I8
________________________8______I8,
________________________8______8_8,
________________________8,_____8_8′
_______________________,I8_____”8″
______________________,8″8,_____8,
_____________________,8′_`8_____`b
____________________,8′___8______8,
___________________,8′____(a_____`b
__________________,8′_____`8______8,
__________________I8/______8______`b,
__________________I8-/_____8_______`8,
__________________(8/-/____8________`8,
___________________8I/-/__,8_________`8
___________________`8I/–,I8________-8)
____________________`8I,,d8I_______-8)
______________________”bdI”8,_____-I8
___________________________`8,___-I8′
____________________________`8,,–I8
_____________________________`Ib,,I8

शीर्षक टैग ( Title Tag )
यह कहा जा सकता है कि शीर्षक अपनी वेबसाइट के एक सफल खोज इंजन अनुकूलन के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारकों में से एक है. <head> अनुभाग के भीतर, सही विवरण और कीवर्ड टैग के ऊपर स्थित है, यह अपनी वेबसाइट के बारे में संक्षेप में जानकारी प्रदान करता है. कि इसके अलावा, शीर्षक है क्या खोज इंजन परिणाम पेज (SERP) पर प्रकट होता है.

Title Tag

It could be said that the title is one of the most important factors for a successful search engine optimization of your website. Located within the “<head>” section, right above the Description and Keywords tag, it provides summarized information about your website. Besides that, the title is what appears on search engines result page “SERP”.

शीर्षक टैग 10-60 अक्षरों के बीच होना चाहिए. यह एक कानून है, नहीं है, लेकिन एक रिश्तेदार दिशानिर्देश – कुछ अधिक प्रतीकों एक समस्या नहीं है. आप अब शीर्षक टैग के होने के लिए सज़ा नहीं होगा, लेकिन खोज इंजन बस अब भाग की अनदेखी करेंगे.

The title tags should be between 10-60 characters. This is not a law, but a relative guideline – a few more symbols is not a problem. You won’t get penalized for having longer title tags, but the search engine will simply ignore the longer part.

विवरण मेटा टैग
टैग का वर्णन इस तरह है कि यह दिखा देंगे क्या जानकारी अपनी वेबसाइट में शामिल है या क्या आपकी वेबसाइट के बारे में लिखा जाना चाहिए. कम और स्पष्ट वाक्य है कि आपके आगंतुकों को भ्रमित नहीं होगा लिखो.

Meta Description tag
The description tag should be written in such way that it will show what information your website contains or what your website is about. Write short and clear sentences that will not confuse your visitors.

वर्णन टैग 200 अक्षरों से कम होना चाहिए. मेटा टैग का वर्णन भी अपने पृष्ठ के अनुकूलन एसईओ के लिए एक महान महत्व है. यह संभावना आगंतुक के लिए सबसे महत्वपूर्ण है जब खोज इंजन परिणाम पृष्ठ पर देख रहे हैं इस टैग को अक्सर वहाँ प्रदर्शित की जाती है और आप सूची में दूसरों से अपनी साइट को अलग करने में मदद करता है.

The description tag should be less than 200 characters. The meta description tag also has a great importance for the SEO optimization of your page. It is most important for the prospect visitor when looking at the search engine result page – this tag is often displayed there and helps you to distinguish your site from the others in the list.

मेटा खोजशब्द टैग
हाल ही में, meta कीवर्ड टैग खोज इंजन और विशेष रूप से गूगल के लिए कम से कम महत्वपूर्ण टैग बन गया है. हालांकि, यह एक आसान तरीका है एक बार फिर से अपने सबसे महत्वपूर्ण खोजशब्दों को सुदृढ़. हम इसके उपयोग की सिफारिश के रूप में हम मानते हैं कि यह एसईओ प्रक्रिया में मदद करने के लिए, खासकर अगर आप नीचे वर्णित नियमों का पालन कर सकते हैं.

Meta Keywords tag
Lately, the meta keyword tag has become the least important tag for the search engines and especially Google. However, it is an easy way to reinforce once again your most important keywords. We recommend its usage as we believe that it may help the SEO process, especially if you follow the rules mentioned below.

कीवर्ड टैग के बीच 4 और 10 खोजशब्दों को शामिल करना चाहिए. वे अल्पविराम के साथ सूचीबद्ध किया जाना चाहिए और प्रमुख खोज वाक्यांश को लक्षित कर रहे हैं आप के अनुरूप होना चाहिए. इस टैग में हर शब्द शरीर में कहीं दिखाई देते हैं, या आप अप्रासंगिकता के लिए सज़ा हो सकती है. कोई एक शब्द दो बार से अधिक प्रकट करना चाहिए, या यह स्पैम माना जा सकता है.

The keyword tags should contain between 4 and 10 keywords. They should be listed with commas and should correspond to the major search phrases you are targeting. Every word in this tag should appear somewhere in the body, or you might get penalized for irrelevance. No single word should appear more than twice, or it may be considered spam.

मेटा रोबोटों टैग
इस टैग आप जिस तरह से अपनी वेबसाइट खोज इंजन द्वारा क्रॉल जाएगा निर्दिष्ट करने के लिए मदद करता है. मेटा रोबोटों टैग के 4 प्रकार हैं:

Meta Robots tag
This tag helps you to specify the way your website will be crawled by the search engine. There are 4 types of Meta Robots Tag:

सूचकांक, का पालन करें – खोज इंजन रोबोटों के मुख्य / सूचकांक पृष्ठ से अपनी वेबसाइट रेंगने शुरू करने और फिर पृष्ठों की आराम करने के लिए जारी रहेगा.
Index, Follow – The search engine robots will start crawling your website from the main/index page and then will continue to the rest of the pages.

सूचकांक, nofollow – खोज इंजन रोबोटों के मुख्य / सूचकांक पृष्ठ से अपनी वेबसाइट रेंगने शुरू करने और फिर पृष्ठों की आराम करने के लिए नहीं जारी रहेगा.

Index, NoFollow – The search engine robots will start crawling your website from the main/index page and then will NOT continue to the rest of the pages.

Noindex, का पालन करें – खोज इंजन रोबोटों के मुख्य / सूचकांक पृष्ठ को छोड़ देगा, लेकिन पृष्ठों के बाकी क्रॉल जाएगा.

NoIndex, Follow – The search engine robots will skip the main/index page, but will crawl the rest of the pages.

Noindex, nofollow – अपने पृष्ठों में से कोई भी रोबोट द्वारा क्रॉल जाएगा और अपनी वेबसाइट अनुक्रमित खोज इंजन द्वारा नहीं किया जाएगा.

NoIndex, NoFollow – None of your pages will be crawled by the robot and your website will not be indexes by the search engines.

यदि आप सुनिश्चित करें कि आप सभी रोबोट वेबसाइट क्रॉल जाएगा होना चाहते हैं तो हम आपको सलाह देने के लिए एक “सूचकांक, का पालन करें” मेटा रोबोट टैग जोड़ने. कृपया है कि खोज इंजन crawlers के सबसे ध्यान दें सूचकांक अपने पृष्ठ सूचकांक पृष्ठ से घूर, पृष्ठों की आराम करने के लिए जारी है, भले ही आप एक रोबोट टैग नहीं है. तो अगर तुम चाहो तो अपने पृष्ठ या नहीं क्रॉल किया जा करने के लिए क्रॉल अलग उपयुक्त रोबोट टैग का उपयोग करें.

If you want to be sure that all robots will crawl you website we advise you to add a “Index, follow” meta robot tag. Please note that most of the search engine crawlers will index your page staring from the index page, continuing to the rest of the pages, even if you do not have a robot tag. So if you wish your page not to be crawled or to be crawled differently use the appropriate robot tag.

नई दिल्ली [जासं]। केंद्र सरकार ने गूगल, फेसबुक समेत कुल 21 सोशल नेटवर्किंग साइटों के खिलाफ मुकदमा चलाने की अनुमति दे दी है। इन पर आपत्तिाजनक सामग्री परोसने के साथ ही गलत तथ्य, धार्मिक आधार पर विद्वेष फैलाने व लोगों की भावनाओं को आहत करने का आरोप है। कोर्ट ने 13 मार्च को इन कंपनियों के जिम्मेदार लोगों को व्यक्तिगत रूप से पेश होने को कहा है।

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में सरकार की तरफ से शुक्रवार को पेश की गई रिपोर्ट में कहा गया है कि इन सोशल नेटवर्किंग साइटों के खिलाफ कार्रवाई का उचित आधार है। महानगर दंडाधिकारी सुरेश कुमार की अदालत में केंद्र की ओर पेश रिपोर्ट में कहा गया है कि मुकदमा चलाने की अनुमति देने वाले अधिकारी ने इस मामले में सभी रिकॉर्डो व सामग्रियों को स्वयं देखा। इसे देखने के बाद निष्कर्ष निकाला कि आरोपियों के खिलाफ आइपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला बनता है।

केंद्र के दो पन्नों की रिपोर्ट मिलने के बाद अदालत ने विदेश मंत्रालय को दस विदेशी सोशल नेटवर्किंग साइटों को समन तामील कराने को निर्देश दिया। मामले में बीते 23 दिसंबर को समन जारी हुआ था, लेकिन वह कंपनियों [साइटों] तक नहीं पहुंच पाया। समन अदालत ने कुल 21 साइटों को जारी किया था। इन पर आपराधिक साजिश, अश्लील पुस्तकों की बिक्री और युवाआें को आपत्तिाजनक वस्तुएं बेचने का आरोप लगा था।

केंद्र द्वारा अदालत में पेश की गई रिपोर्ट में कहा गया है कि मामले को लेकर साइटों और सर्च इजनों गूगल, फेसबुक, याहू और माइक्रोसॉफ्ट के प्रतिनिधियों के साथ बैठकें हुईं। उन्हें बताया गया कि किस तरह की आपत्तिाजनक सामग्री उनकी वेबसाइट के माध्यम से लोगों तक पहुंच रहीं हैं। उन्हें इस संबंध में कार्रवाई के लिए भी कहा गया था।

बीती सुनवाई के दौरान फेसबुक, गूगल, याहू, यू ट्यूब सहित करीब 21 सोशल नेटवर्किग साइटों के प्रतिनिधियों को समन जारी करते हुए केंद्र सरकार को इनके खिलाफ उचित कार्रवाई कर 13 जनवरी तक रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया गया था। शुक्रवार को हुई सुनवाई में याहू इंडिया को छोड़कर सभी साइटों की ओर से उनके वकील पेश हुए। याहू इंडिया की ओर से उनका एक प्रतिनिधि पेश हुआ। एक पत्रकार की याचिका पर हो रही इस सुनवाई पर जिन कंपनियों के वकील या प्रतिनिधि पेश हुए, उनकी ओर से कहा गया कि इसमें से 11 सोशल नेटवर्किंग साइट ही भारत आधारित हैं, बाकी 10 विदेश से नियंत्रित हैं।

 

 

 

 

 

source : jagran.com/news/national-8765543

नई दिल्ली. आज से दस साल पहले यानी 13 दिसंबर, 2001 को संसद पर हुए हमले में शहीद हुए जवानों के घरवाले जहां एक ओर अफजल गुरु को तुरंत फांसी दिए जाने की मांग कर रहे हैं। वहीं, दूसरी ओर इस हमले के मास्टरमाइंड होने का आरोप झेल चुके सैयद अब्दुल रहमान गिलानी ने कहा है, ‘अगर अफजल को फांसी हुई तो पूरे कश्मीर में आग लग जाएगी। वहां की शांति खत्म हो जाएगी। कश्मीर के लोग जानते हैं कि उनके (अफजल गुरु) साथ नाइंसाफी हुई है। उन्हें फांसी देना बड़ी परेशानी का सबब बनेगा।’

संसद पर हमले के सिलसिले में 20 महीने की जेल काटने के बाद रिहा हुए गिलानी ने एक इंटरव्यू में अफजल गुरु को बेकसूर बताया है। अफजल गुरु को सुप्रीम कोर्ट ने दोषी मानते हुए फांसी की सजा सुनाई है। लेकिन अफजल ने फांसी से बचने के लिए राष्ट्रपति के पास दया याचिका भेजी है, जिस पर अब तक कोई फैसला नहीं लिया गया है।

कड़े कानून की कमी के चलते आतंकी घटनाएं बढ़ने से इनकार करते हुए इंटरव्यू में गिलानी ने कहा है कि किसी भी लोकतांत्रिक ढांचे में कड़े कानूनों के लिए कोई जगह नहीं है। गिलानी के मुताबिक हम कभी भी समस्या की जड़ तक नहीं पहुंचे और जांच एजेंसियों ने कभी भी जांच को गंभीरता से नहीं लिया।

संसद हमले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद रिहा हुए गिलानी ने कहा, ‘हमले के बाद पुलिस अंधेरे में हाथ-पांव मार रही थी। उन्हें नतीजे दिखाने थे, लेकिन असली हमलावर के बारे में उसे कुछ पता नहीं था। उन्हें किसी का नाम इस हमले से जोड़ने की जरूरत थी। इसलिए उन्होंने मुझे मास्टरमाइंड बना दिया। मैं दिल्ली में जाना पहचाना चेहरा था। मैं मानवाधिकार के लिए संघर्ष करता रहा हूं। मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी में पढ़ाता भी था। उन्होंने मुझे आरोपी बनाना आसान समझा।’

गिलानी ने कहा, ‘इस घटना के बाद जिंदगी पूरी तरह से बदल गई। मैं इससे पहले एक आम आदमी था। मैं कहीं भी आ जा सकता था। लेकिन अब लगता है कि मैं बंध गया हूं। लोगों के मन में मेरी एक छवि बन गई है और मुझे इसी के साथ जीना है।’
मुंबई पर हुए 26/11 के हमलों के बाबत गिलानी ने कहा, ‘मैंने इन हमलों की निंदा की थी। जिन लोगों ने ये हमले किए थे, उनके लिए समाज में कोई जगह नहीं है। लेकिन इसकी आड़ में पुलिस बेकसूर लोगों को नहीं पकड़ सकती।’

कश्मीर समस्या के हल के बारे में गिलानी ने कहा, ‘कश्मीर के लिए हल खोजना होगा। अगर वे वहां यथास्थिति बरकरार रखेंगे तो वहां के लोगों की कठिनाई कायम रहेगी। दुर्भाग्य से सरकार ने लोगों से झूठ बोला और उन्हें अंधेरे में रखा।’

यूपीए और एनडीए सरकार की तुलना करते हुए गिलानी ने कहा, ‘मेरे हिसाब से दोनों सरकारें समस्याएं सुलझाने में नाकाम रही हैं। केंद्र में सत्ता बदलने से कुछ नहीं होगा। नीतियों में बदलाव की जरूरत है। इन दोनों सरकारों में नीतियां कमोबेश एक जैसी रहीं। आप खुफिया एजेंसियों के कामकाज के तरीके को देखिए। मैंने आईबी के ऐसे अफसरों का सामना किया है जो सांप्रदायिक हैं।’

किशनगंज (जागरण संवाददाता)। बिहार के किशनगंज जिले में हुई एक दुर्घटना में बुधवार सुबह तेल टैंकर वाली मालगाड़ी आग की चपेट में आ गई। इस घटना में एक-एक करके 19 टैंकरों में आग लग गई। आगजनी से पहले मालगाड़ी पटरी से उतर गई थी। दुर्घटना में एक व्यक्ति के मरने की खबर है। दुर्घटना में दस करोड़ रुपये के नुकसान का अंदेशा है।

दुर्घटना तब हुई जब मालगाड़ी असम के रंगापानी से जमशेदपुर [झारखंड] जा रही थी। माना जा रहा है कि मालगाड़ी के पटरी से उतरने के समय उठी चिंगारी से ही आग लगी और वह फैल गई। दुर्घटना में १४०० हजार लीटर पेट्रोल और डीजल जल गया। हमारे उत्तर दिनाजपुर संवाददाता के अनुसार दुर्घटनास्थल के नजदीक खेत में काम कर रहा मतिबुर्रहमान (४२) पटरी से उतरे टैंकर की चपेट में आ गया। उसके टैंकर के नीचे दबे होने की आशंका है। चार अन्य लोगों के भी लापता होने की खबर है।

तेल कंपनी व रेलवे की दमकल गाड़ियां आग बुझाने के प्रयासों में लगी हैं। दुर्घटना के चलते कटिहार-न्यू जलपाईगुड़ी रेलमार्ग घंटों रुका रहा। रेलवे ने दुर्घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं।

 

 

 

source : in.jagran.yahoo.com

दिल्ली।  हिन्दी फिल्म उद्योग में मçल्लका शेरावत ने एक इतिहास रच दिया उन्होंने अपनी पहली फिल्म में ही 17 चुम्बन गिनकर रातों रात स्टार बन गयीं और इतना ही नहीं मçल्लका शेरावत ने महेश भट्ट के  मर्डर में एक कदम और आगे बढते हुए अंग प्रदर्शन का जो जलवा दर्शकों के सामने रखा था, वह आज तक उन्हें बॉलीवुड के साथ-साथ हॉलीवुड में भी सफलता प्रदान कर रहा है। इस वर्ष जलेबी बाई और रजिया फंसी बनकर उन्होंने बॉलीवुड के दर्शकों को आइटम नम्बर के जरिए ही आकर्षित किया।
अब यही रजिया दक्षिण भारत की फिल्मों में आइटम नम्बर के जरिए प्रवेश करने जा रही हैं। बॉलीवुड की गत वर्ष की सर्वाधिक सफल और राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजी गई फिल्म दबंग के तमिल रीमेक के लिए मçल्लका शेरावत को मुन्नी बदनाम हुई के लिए चुना गया है। इस फिल्म के निर्माता के लिए सबसे बडी परेशानी यह आ रही थी कि वह मुन्नी के लिए किस अदाकार को ले। कहा तो यह भी जा रहा था कि निर्माता इस फिल्म में मलाइका अरोडा खान को ही लेना चाहते थे लेकिन उन्होंने स्पष्ट रूप से इस गीत के लिए मना कर दिया था। मलाइका अरोडा खान के बाद इस गीत के लिए बिपाशा बसु, विद्या बालन और कैटरीना कैफ के साथ बात की गई थी, जिसमें बाजी कैटरीना कैफ के हाथ लगी थी। कैटरीना कैफ ने इस गीत के लिए तभी हामी भर जब उन्हें इसके बदले में ढाई करोड रूपये की कीमत अदा करने की बात कही गई। शीला के रूप में हिन्दी दर्शकों पर छा चुकी कैटरीना मुन्नी के जरिए दक्षिण भारत के दर्शकों में भी अपने नाम का डंका बजाने के प्रयास में थी लेकिन उनके सामने तारीखों की समस्या आ गई। अन्त में अब यह गीत मçल्लका शेरावत के पास आ गया है। बॉलीवुड के गलियारों में चर्चा तो यह भी है कि इस गीत के लिए मçल्लका ने निर्माता से कैटरीना द्वारा लिए जाने वाले भुगतान से ज्यादा की मांग की है। अब देखना यह है कि निर्माता कितने पैसे देकर मçल्लका को अपने इशारों पर नाचने के लिए कह सकता है।

कैट बॉलीवुड की क्वीन बनी हुई हैं इसका एक कारण है , कि उनको हिंदी भाषी दर्शक बहुत पसंद करते है | लेकिन कैटरीना  को इस बात का हमेशा अफसोस होता  है कि वह अपने दर्शकों से उनकी भाषा में बात नहीं कर पाती।  लेकिन पिछले दिनों अपनी फिल्म मेरे ब्रदर की दुल्हन के लॉन्च के वक्त कटरीना ने पत्रकारों के सभी सवालों का जवाब हिन्दी में देकर लोगों को आश्‍चर्य में डाल दिया।  जी यह सच है कि  कटरीना कैफ को अबतक आपने सिर्फ अंग्रेजी में जवाब देते हुए देखा होगा, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। कैफ ने तय किया है कि अब से वो सभी इंटरव्यूज में हिंदी में बोला करेंगी। कटरीना और इमरान खान की फिल्म मेरे ब्रदर की दुल्हन 9 अगस्त को रिलीज हो रही है। आपसे आनुरोध है कि आप बड़ी से बड़ी संख्या में उनकी फिल्म का आन्नद उठाये आगे देखें 

 रायपुर ! बाबा रामदेव एवं उनके समर्थकों को अनशन के दौरान दिल्ली में आधी रात बाद लाठीचार्ज कर रामलीला मैदान से हटाने की पुलिसिया कार्रवाई की आंच देश भर सहित राजधानी में भी पहुंच चुकी है। भारतीय जनता पार्टी एवं स्वाभिमान पतांजली योग समिति के संयुक्त आहृवान पर आज छत्तीसगढ़ बंद रहा। इस दौरान राजधानी भी बंद रही जिससे जनजीवन प्रभावित रहा। बंद के चलते सरकारी दफ्तरों में भी कर्मचारियों की उपस्थिति कम नजर आई। व्यापारिक प्रतिष्ठाने, टाकिज, मॉल, शराब दुकान व पोस्ट आफिस भी बंद रहे।

दोपहर तक दुकानें बंद रहने के बाद इक्का-दुक्का खुलनी शुरू हुई एवं शाम तक गली-मोहल्ले सहित प्रमुख बाजारों की कुछ दुकानें भी खुल गई। वहीं पेट्रोल पंप एवं टॉकीज भी शाम बाद शुरू हो गया। दिल्ली में अनशन कर रहे बाबा रामदेव व उनके हजारों कार्यकर्ताओं के खिलाफ पुलिस कार्रवाई किए जाने के विरोध में आज छत्तीसगढ़ बंद का आहृवान किया गया था। इस दौरान राजधानी बंद रही। बंद को भाजपा सहित चेम्बर ऑफ कॉमर्स ने भी अपना समर्थन दिया था। जिसके कारण बंद सफल कहा जा सकता है। चेम्बर से जुड़ी प्रमुख दुकानें आज पूरी तरह बंद रही। वहीं बंद को सफल बनाने के लिए भाजयुमो के कार्यकर्ता व भारत स्वाभिमान समिति के कार्यकर्ता घुम-घुमकर राजधानी की सड़कों पर व्यापारिक प्रतिष्ठानों को बंद कराते रहे। बंद का पूरा असर राजधानी में देखने को मिला जहां मुख्य बाजार पूरी तरह से बंद रहे वहीं पुरानीबस्ती, महादेवघाट रोड, विधानसभा रोड, धमतरी रोड के दुकानें भी बंद दिखाई दी। मुख्य बाजारों में गोल बाजार, सदर बाजार, कोतवाली, बाम्बे मार्केट, रवि भवन, टॉकीज, शराब दुकानें आदि बंद रहे।

भाजयुमो के कार्यकर्ता राज टॉकीज में बंद कराने पहुंचे तो तीखी-बहस हुई। लेकिन टॉकीज के संचालक द्वारा टॉकीज बंद करने की बात कहने पर मामला शांत हो गया। इधर मैग्नेटों मॉल में भी कार्यकर्ता बंद कराने पहुंचे थे। बंद से मॉल भी प्रभावित रहे। कुछ समय के लिए मॉल भी बंद रखा गया था। पेट्रोल पंप बंद रहने के कारण आम लोगों को भारी तकलीफों का सामना करना पड़ा। शाम बाद पेट्रोल पंपों के खुलने से पंपों में लंबी लाइने देखने को मिली जहां पर लोग बड़ी मुश्किल से वाहनों में पेट्रोल भरा रहे थे। हालांकि दोपहर तक सभी व्यापारिक प्रतिष्ठाने खुलना शुरू हो गया और शाम तक बाजार में रौनक लौट गई। इसके बावजूद राजधानी में करोड़ों रूपए के व्यापार प्रभावित रहा है। मुख्य थोक कपड़ा बाजार पंडरी भी पूरी तरह से बंद होने के कारण शादी सीजन में करोड़ों का नुकसान हुआ है। बंद के दौरान शाम तक किसी अप्रिय घटना नहीं होने की खबर आई है। बंद को पूरी तरह से भाजपा ने अपना न केवल समर्थन दिया बल्कि भाजयुमो के कार्यकर्ता बंद कराने के लिए सक्रिय थे। भाजपा के पदाधिकारी इस काम में पूरा मार्गदर्शन दे रहे थे। Claim-DP6KWU8CV4ET

एक प्रकार से देखा जाए तो प्रदेश बंद में भाजपा की भूमिका प्रमुख रही। भारत स्वाभिमान मंच के संजय अग्रवाल उनके साथ चल रहे थे। इस संबंध में संजय अग्रवाल ने कहा कि काले धन के मुद्दे पर केन्द्र सरकार अहिंसात्मक आंदोलन को दबानेकी कोशिश से यह जाहिर हो गया है कि केन्द्र की सरकार इस मुद्दे पर कोई काम नहीं करना चाहती। उन्होंने कहा कि बाबा रामदेव के खिलाप हुए पुलिसिया कार्रवाई निंदनीय है। केन्द्र की इस हरकत से लोकतंत्र की हत्या हुई है।

source :deshbandhu.co.in